UPS Ka Full Form क्या होता है? UPS Full Form, Types & Uses in Computer in Hindi

By | May 29, 2021
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

UPS Ka Full Form क्या होता है? UPS Full Form in Computer in Hindi

आजकल ज्यादातर लोगों के पास लैपटॉप कंप्यूटर है और आप जानते ही होंगे कि लैपटॉप में बैटरी इनबिल्ट होती है । यदि लैपटॉप का चार्जर निकाल दिया जाए तो भी लैपटॉप कम से कम डेट से 2 घंटे तक बैटरी से चल सकता है तथा एकदम बंद नहीं होता है ।

लेकिन आज से कई वर्ष पहले डेस्कटॉप कंप्यूटर का जमाना था तथा बहुत से लोगों के पास आज भी डेस्कटॉप कंप्यूटर है । स्कूलों में, कंप्यूटर लैब में या साइबर कैफे में आज भी ज्यादातर डेस्कटॉप कंप्यूटर ही प्रयोग किए जाते हैं ।

डेस्कटॉप कंप्यूटर को चलाने के लिए एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की बहुत ज्यादा आवश्यकता होती है जिसे यूपीएस कहा जाता है । वैसे तो कंप्यूटर को बिना यूपीएस के भी चलाया जा सकता है लेकिन यदि कंप्यूटर को बिना यूपीएस के चलाया जाए तो कंप्यूटर पावर सप्लाई बंद करने पर तुरंत बंद हो जाता है ।

इसीलिए कंप्यूटर के साथ यूपीएस लगाना जरूरी है ताकि कंप्यूटर की पावर सप्लाई बंद होने पर या लाइट भाग जाने पर कंप्यूटर एकदम बंद ना हो । आइए अब हम यूपीएस के बारे में थोड़ा विस्तार से जान लेते हैं की UPS क्या होता है (What is UPS in Hindi)

UPS ka Full Form क्या होती है? What is the Full Form of UPS in Computer in Hindi

दोस्तों वैसे तो यू पी एस की फुल फॉर्म कुछ भी हो सकती है, यह निर्भर करता है कि हम किस संदर्भ में बात कर रहे हैं । लेकिन कंप्यूटर के संदर्भ में यूपीएससी की फुल फॉर्म होती है Uninterrupted Power Supply जिसका हिंदी में अर्थ होता है निर्बाध विद्युत आपूर्ति यंत्र

यूपीएससी की फुल फॉर्म होती है Uninterrupted Power Supply जिसका हिंदी में अर्थ होता है निर्बाध विद्युत आपूर्ति यंत्र

यूपीएस क्या होता है? What is UPS in Hindi

UPS एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस होता है जिसमें एक या एक से अधिक बैटरी मौजूद होती हैं । बैटरी के साथ-साथ यूपीएस में एक सर्किट भी लगा होता है जो इन बैटरी को कंट्रोल करता है ।

जैसे ही पावर सप्लाई बंद होती है या लाइट भाग जाती है तो यूपीएस में मौजूद बैटरी तुरंत पावर सप्लाई देना शुरू कर देती है तथा कंप्यूटर बंद नहीं होता है । जिस प्रकार लैपटॉप में बैटरी मौजूद होती हैं बिल्कुल उसी तरह यूपीएस में मौजूद बैटरी काम करती हैं ।

यूपीएस कैसे काम करता है? How UPS Works in Hindi

सबसे पहले मेन पावर सप्लाई से यूपीएस को जोड़ा जाता है । यूपीएस के बैक साइड में यानी पीछे की तरफ प्लग मौजूद होते हैं जिनमें से आउटपुट निकलती है ।

पावर केबल के माध्यम से सीपीयू को इन आउटपुट प्लग से जोड़ दिया जाता है । मेन पावर सप्लाई को चालू करने पर यूपीएस में सप्लाई आ जाती है तथा यूपीएस में मौजूद बैटरी चार्ज होनी शुरू हो जाती है तथा यूपीएस आउटपुट सप्लाई देना शुरू कर देता है ।

यह आउटपुट सीपीयू के लिए इनपुट का काम करती है । इस तरह सीपीयू को डायरेक्ट मेन पावर सप्लाई से ना जोड़कर यूपीएस से जोड़ा जाता है ।

How UPS Works in Hindi

Source: resolve.co.uk

अब यदि आप कंप्यूटर पर काम कर रहे हैं तो लाइट भागने पर या मेन पावर सप्लाई से कनेक्शन टूटने पर आपका कंप्यूटर एकदम बंद नहीं होगा । क्योंकि आपका कंप्यूटर यूपीएस से जुड़ा हुआ है । पावर सप्लाई बंद होते ही यूपीएस बैट्री तुरंत सीपीयू को बिना रुके अर्थात निर्बाध रूप से पावर सप्लाई देती है तथा कंप्यूटर बंद नहीं होता है ।

मान लीजिए आप कंप्यूटर पर एमएस ऑफिस पर या किसी दूसरी एप्लीकेशन पर काम कर रहे थे । इस स्थिति में यदि कंप्यूटर बंद हो जाए तो आपका सारा काम खत्म हो जाएगा यानी डाटा नष्ट हो जाएगा ।

लेकिन यदि आपने अपना कंप्यूटर यूपीए से जोड़ रखा है तो आपको कंप्यूटर के एकदम बंद होने का खतरा नहीं रहेगा तथा आप जो भी काम कर रहे हैं आपको उसे सेव करने का मौका मिल जाएगा ।

UPS कितने प्रकार के होते हैं? Types of Computer in Hindi

UPS मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते हैं जो कि इस प्रकार हैं ।

स्टैंडबाई यूपीएस

स्टैंड बाय यू पी एस का उपयोग ज्यादातर डेस्कटॉप कंप्यूटर में किया जाता है । स्टैंडबाई यूपीएस मैं मौजूद बैटरी पहले अपने आप को चार्ज करती हैं तथा जैसे ही पावर सप्लाई बंद होती है तो इस यूपीएस में मौजूद बैटरी डेस्कटॉप कंप्यूटर को तुरंत पावर सप्लाई देना शुरू कर देती है तथा कंप्यूटर को बंद होने से रोकती है ।

लाइन इंटरएक्टिव यूपीएस

यह यूपीएस हाई वोल्टेज तथा लो वोल्टेज दोनों में बिल्कुल सही तरीके से काम करता है । यदि वोल्टेज हाई है तो यह वोल्टेज को कम कर देता है और यदि कम है तो उसे बढ़ाकर कंप्यूटर को देता है । यह यूपीएस कुछ कुछ स्टैंडबाई यूपीएस से मिलता जुलता होता है क्योंकि इसमें भी जब मेन पावर सप्लाई चालू होती है तो यह अपनी बैटरी को चार्ज करता है तथा पावर सप्लाई बंद होने पर कंप्यूटर को सप्लाई प्रदान करता है ।

डेल्टा कन्वर्जन यूपीएस

यह यूपीएस स्टैंडबाई यूपीएस तथा इंटरएक्टिव यूपीएस इन दोनों से काफी बेहतर होता है । यह वोल्टेज को सही तरीके से मेंटेन करता है तथा कंप्यूटर को बिना किसी देरी के पावर सप्लाई प्रदान करता रहता है ।

यूपीएस के पार्ट्स Parts (Components) of UPS in Hindi

यूपीएस के मुख्य रूप से 3 पार्ट्स होते हैं –

  • रेक्टिफायर Rectifier
  • बैटरी Battery
  • सर्किट Circuit

रेक्टिफायर का मुख्य कार्य एसी करंट को डीसी में बदलना होता है । बैटरी को चार्ज करने के लिए डीसी करंट की आवश्यकता होती है । इसीलिए रेक्टिफायर की मदद से एसी को डीसी में बदला जाता है तथा बैटरी को चार्ज किया जाता है ।

जैसे ही पावर सप्लाई बंद होती है तो रेक्टिफायर के माध्यम से ही बैटरी में संचित विद्युत ऊर्जा को दोबारा एसी में बदला जाता है क्योंकि कंप्यूटर को ऐसी करंट की आवश्यकता होती है ।

बैटरी बैटरी में विद्युत ऊर्जा को संचित किया जाता है ताकि मेन पावर सप्लाई बंद होने पर बैटरी में संचित ऊर्जा कंप्यूटर को विद्युत ऊर्जा के रूप में प्रदान की जा सके तथा कंप्यूटर को बंद होने से रोका जा सके ।

सर्किट सर्किट के विभिन्न प्रकार के कार्य होते हैं जैसे वोल्टेज को मेंटेन करना, बैटरी को चार्ज करने में मदद करना, मेन पावर सप्लाई बंद होते ही डेस्कटॉप कंप्यूटर को बिना रुकावट के पावर सप्लाई प्रदान करना इत्यादि ।

यूपीएस के फायदे UPS Benefits (Uses) in Hindi

  1. यूपीएस का सबसे पहला फायदा तो यही है की इसकी मदद से आपके कंप्यूटर को मेन पावर सप्लाई बंद होने पर या लाइट भाग जाने पर बंद होने से रोका जा सके । यदि आप कोई जरूरी काम कर रहे हैं तो आपको यूपीएस की मदद से अपना कार्य सेव करने का मौका मिल जाएगा ।
  2. UPS आपके कंप्यूटर की हार्ड डिस्क को खराब होने से बचाता है क्योंकि यदि आप कंप्यूटर को शट डाउन नहीं कर पाएंगे तथा कंप्यूटर तुरंत बंद हो जाएगा तो ऐसे में आपके कंप्यूटर के हार्ड डिस्क खराब हो सकती हैं ।
  3. कंप्यूटर के अलावा आप यूपीएस का प्रयोग करके अपने घर के छोटे मोटर विद्युत उपकरण जैसे बल्ब इत्यादि को चला सकते हैं ।

निष्कर्ष Conclusion

तो दोस्तों आप समझ गए होंगे यूपीएस कितने काम का इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है । यूपीएस आपके कंप्यूटर के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण उपकरण है ।

डेस्कटॉप कंप्यूटर बिना यूपीएस के चल सकता है लेकिन यदि पावर सप्लाई बंद हो जाती है तो आपका सभी काम यानी डाटा नष्ट हो सकता है और कभी-कभी यह काफी नुकसानदायक होता है ।

यदि आपको यूपीएस से संबंधित कुछ पूछना हो तो आप कमेंट के माध्यम से हमारे से पूछ सकते हैं ।

यदि आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इस लेख को लाइक जरूर करें । नीचे फेसबुक लाइट बटन दिया गया है ।

ये भी पढ़े:


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One thought on “UPS Ka Full Form क्या होता है? UPS Full Form, Types & Uses in Computer in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *