CPC, CTR, CPA, RPM क्या है? What is CPC CTR CPA RPM in Hindi

By | February 4, 2021
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

CPC, CTR, CPA, RPM क्या है?

दोस्तों यदि आप एक blogger या youtuber है, और इंटरनेट से पैसा कमाने के लिए आप इस फील्ड में लगातार मेहनत कर रहे है, तो आपके मन में CPC, CTR, CPA, RPM क्या है, तथा यह कैसे काम करते है,  इसके बारे में bahut se प्रश्न उठते होंगे ।

Also Read: How to Earn Money From Internet in Hindi

यदि आप CPC, CTR CPA, RPM इत्यादि के बारे में विस्तार से जानना चाहते है, तो आप हमारे इस आर्टिकल को एंड तक जरूर पढ़े, क्योंकि इस लेख में हम आपको इस विषय में पूरी जानकारी देंगे ।

CPC, CTR, CPA, RPM यह जितने भी terms है, इनका संबंध आपके ब्लॉग या वेबसाइट से होता है । आप जानते ही होंगे कि blog या youtube से पैसा कमाने के लिए ऐडसेंस का होना बहुत जरूरी है । हालांकि ऐडसेंस के बिना भी पैसा कमाने के बहुत सारे तरीके है, लेकिन यहां हम ऐडसेंस के बारे में ही बात करेंगे क्योंकि यह जितने भी terms है, एडसेंस से संबंधित है ।

जी हां दोस्तों, CPC, CTR, CPA, RPM इन सभी terms का सीधा संबंध आपके गूगल ऐडसेंस अकाउंट से होता है । आइए इन सभी terms के बारे में विस्तार से बात करते है ।

CPC (Cost per Click) क्या होता है? What is CPC in Hindi

दोस्तो सबसे पहले हम बात करेंगे CPC यानी Cost per Click के बारे में । जैसा कि इस वर्ड के नाम से ही पता चलता है, कि एक क्लिक का जितना कोस्ट होता है, उसे सीपीसी कहते है ।

यानी आपके ब्लॉग, वेबसाइट या यूट्यूब वीडियो में एक एडवर्टाइजमेंट पर क्लिक करने का आपको जितना पैसा मिलता है, उसे गूगल ऐडसेंस में CPC kha जाता है । उदाहरण के तौर पर यदि आपकी वेबसाइट, ब्लॉग या यूट्यूब चैनल पर आने वाले एक ऐड पर क्लिक होने पर आपको $1 मिलता है, तो इस प्रकार सीपीसी की वैल्यू $1 होगी ।

इस प्रकार हम कह सकते है, कि आपके ब्लॉग, वेबसाइट या यूट्यूब चैनल का जितना ज्यादा सीपीसी होगा आपकी अर्निंग भी उतनी ज्यादा होगी । अर्निंग को हम निम्न समीकरण के अनुसार कैलकुलेट कर सकते है ।

Earning = CPC * Total Clicks

अर्थात यदि टोटल clicks ko CPC se मल्टीप्लाई कर दिया जाए तो आप की कमाई निकल कर आ जाती है ।

CPM (Cost per Mile) क्या है? What is CPM in Hindi

अगला महत्वपूर्ण term hai CPM । CMP की फुल फॉर्म होती है Cost per Mile या Cost per Thousand Impression । यहां M का अर्थ 1000 से होता है । क्योंकि रोमन भाषा में M को एक हजार के लिए प्रयोग किया जाता है ।

CPM का अर्थ है, कि आपके ब्लॉग वेबसाइट पर Ads ke 1000 इंप्रेशन aane par गूगल ऐडसेंस आपको कितना पैसा दे रहा है । उदाहरण के तौर पर यदि आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर एक हजार बार एड्स aata है, और आपको $5 मिलता है, तो इस प्रकार सीपीएम की वैल्यू $5 होगी । CPM  एडवरटाइजमेंट होने पर आपकी कमाई इस प्रकार निकाली जाती है ।

CPM = cost x 1,000 / target audience

यदि किसी एडवर्टाइज ने CPM value $1 सेट की है, तो एक हजार बार विज्ञापन शो होने पर उसके अकाउंट से केवल $1 कटेगा । यह $1 पब्लिशर के अकाउंट में गूगल अपना डिस्काउंट काटने के बाद भेज देगा ।

Also Read: How to Create Free Blog in Hindi

CTR क्या है? What is CTR in Hindi

अब दोस्तों बात करते है, CTR के बारे में । CTR की फुल फॉर्म होती है Click through Rate । अर्थात यदि आपके ब्लॉग, वेबसाइट या यूट्यूब चैनल पर सौ बार एडवर्टाइजमेंट आया तो एडवर्टाइजमेंट पर कितनी बार क्लिक हुआ उसे ही CTR कहा जाता है ।

उदाहरण के तौर पर मान लीजिए आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर सौ बार एडवर्टाइजमेंट आता है, लेकिन केवल 5 लोगों ने ही उस पर क्लिक किया तो इस प्रकार आपके Blog की CTR 5% हो जाएगी

दोस्तों CTR दो प्रकार की होती है ।

  1. Page CTR
  2. Impression CTR

Page CTR

जब CTR को आपके पेज पर लगे हुए सभी विज्ञापनों को ध्यान में रखकर calculate किया जाता है, तो इसे पेज सीटीआर कहा जाता है ।

आपके ब्लॉग या वेबसाइट में सौ बार विज्ञापन आने पर यूजर्स के द्वारा जितनी बार क्लिक किया जाता है, उसे Page CTR कहा जाता है । ऐडसेंस के दृष्टिकोण में Page CTR ही इंपोर्टेंट होता है, तथा यदि यह सीटीआर 10% से ऊपर चला जाए तो आपका गूगल ऐडसेंस अकाउंट भी खतरे में पड़ जाता है । इनवेलिड क्लिक होने पर आपका पेज सीटीआर ही बढ़ जाता है, जिस पर गूगल अपनी नजर बनाए रखता है ।

Impression CTR

दूसरी ओर Impression CTR में सीटीआर की कैलकुलेशन पेज पर लगे हुए हर एक एड्स के लिए अलग अलग से किया जाता है । अर्थात हर Ads के क्लिक थ्रू रेट को ही इंप्रेशन सीटीआर कहा जाता है ।

उदाहरण के तौर पर यदि आपके पेज पर तीन ऐड लगे हुए है, तो उन तीनों ऐड हो पर होने वाली अलग-अलग क्लिक को ध्यान में रखकर ही इंप्रेशन सीटीआर को कैलकुलेट किया जाता है । सीटीआर तथा इंप्रेशन सीटीआर को इस प्रकार कैलकुलेट कर सकते है ।

मान लीजिए आपके किसी पेज पर 3 Ads लगे हुए है जो हर वक़्त load होते है। एक दिन में आप ये सारे आकड़ें प्राप्त करते है:

  • 1000 Page Views
  • 3000 Ad Impressions
  • 10 Clicks

अब ऊपर बताए गए CTR formula का use करते हुए:

Page CTR = (10 / 1000) x 100 = 1%

Impression CTR = (10 / 3000) x 100 = 0.33%

इन दोनों values को calculate करते वक़्त ध्यान रखे कि ज्यादातर Page पर लगे सभी Ads एक साथ display नहीं होते। इसलिए Page CTR और Impression CTR की वैल्यू ऊपर-निचे भी हो सकती है।

RPM क्या है? What is RPM in Hindi

अगला महत्वपूर्ण term है, आरपीएम ।  RPM की फुल फॉर्म होती है Revenue per Mile or revenue per thousand impression ।

अर्थात आरपीएम यह बताता है, कि किसी ब्लॉग या वेबसाइट पर एक हजार बार ऐड इंप्रेशन आने पर उस व्यक्ति की कितनी कमाई हो रही है । आरपीएम bhi दो प्रकार का होता है, Page RPM तथा Impression RPM ।

Page RPM

Page RPm यह बताता है, कि आपके वेबसाइट पर एक हजार बार Page Views आने पर कितनी कमाई हो रही है । उदाहरण के तौर पर यदि आपकी वेबसाइट पर 1000 view hone par $5 की कमाई होती है, तो आपकी वेबसाइट का पेज आरपीएम $5 होगा । Page RPM को निकालने के लिए निम्न सूत्र का प्रयोग किया जाता है ।

Page RPM = (Estimated earnings / Total page views) x 1000

Impression RPM

बिल्कुल इसी प्रकार इंप्रेशन आरपीएम यह बताता है, कि आपकी वेबसाइट में 1000 बाहर ऐड इंप्रेशन आने पर आप की कितनी कमाई हो रही है । उदाहरण के तौर पर यदि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर एक हजार बार ऐड आता है, तथा आपके $1 बन जाते है, तो इस प्रकार आपकी वेबसाइट का इंप्रेशन आरपीएम $1 होगा । इंप्रेशन आरपीएम को इस तरह कैलकुलेट कर सकते है ।

Impression RPM = (Estimated earnings / Total impressions) x 1000

सीपीएम तथा आरपीएम में अंतर Difference between CPM & RPM

बहुत से ब्लॉगर सीपीएम तथा आरपीएम में कंफ्यूज रहते है, तथा इसको सही प्रकार से समझने में अक्सर गलती करते है । हम आपका यह कंफ्यूजन दूर करने की कोशिश करते है ।

सीपीएम एडवरटाइजर के लिए गूगल ऐडसेंस का एक सर्च टर्म है । सीपीएम से कोई भी एडवर्टाइज यह पता लगा सकता है, कि उसको एक हजार बार ऐड दिखाने पर कितने पैसे खर्च करने होंगे । इसे कॉस्ट पर मिले या कॉस्ट पर 1000 impression कहा जाता है ।

जबकि दूसरी ओर आरपीएम पब्लिशर के लिए एक search term होता है । आरपीएम यह बताता है, कि ब्लॉगर को जोकि कंटेंट राइटर है, उसके ब्लॉग या वेबसाइट पर जब किसी पब्लिशर का एडवरटाइजर का ऐड आता है, तो 1000 बार ads आने पर उसको कितना पैसा मिलेगा । इसे रेवेन्यू पर मिले या रेवेन्यू पर 1000 इंप्रेशन कहा जाता है । उम्मीद है, आप समझ गए होंगे ।

सीपीए क्या है? What is CPA in Hindi

आर्टिकल के अंत में CPA के बारे में बात करते है । CPA का अर्थ होता है, Cost per Action । यहां एक्शन से मतलब किसी टास्क को कंप्लीट कराने से हो सकता है ।

जैसे कि किसी प्रोडक्ट की सेल करवाना, किसी वेबसाइट को सब्सक्राइब कर देना, ya कोई फॉर्म फिलअप करवाना ।

उदाहरण के तौर पर मान लीजिए कोई कंपनी चाहती है, कि जब भी उसका कोई प्रोडक्ट सेल हो तभी वह पैसा खर्च करें । इसके लिए वह सीपीए ऐड जनरेट करती है । यदि यह एड आपकी वेबसाइट पर शो होता है, तो आपको पैसा केवल तभी मिलेगा जब इस ऐड पर क्लिक करने पर कोई व्यक्ति इस प्रोडक्ट को खरीदें यानी कोई एक्शन कंप्लीट हो । इस प्रकार के ऐड को CPA ads कहा जाता है ।

ध्यान रखें – इस तरह के एड्स को ज्यादातर एफिलिएट मार्केटिंग या प्रोडक्ट सेल्स के लिए ही प्रयोग किया जाता है । क्योंकि यह एक प्रकार की टारगेटेड एडवरटाइजमेंट टेक्निक है ।

इस तकनीक का इस्तेमाल करके आप कस्टमर्स को खरीद सकते है । उदाहरण के तौर पर यदि आपने सीपीए की वैल्यू $1 तय की है, तो आपका $1 केवल तब खर्च होगा जब आपके द्वारा निर्धारित किया गया एक्शन कंप्लीट होगा । यानी आपके लिए कोई सेल जनरेट हो ।

न्यूजलेटर साइन अप रजिस्ट्रेशन हो या कोई इंक्वायरी फॉर्म फिल अप हो । इस प्रकार यह हमेशा ही फायदे का सौदा रहता है । सीपी एडवर्टाइजमेंट ज्यादातर उन वेबसाइट पर आते है जिनके पास टारगेट ऑडियंस होती है । यदि आपके पास टारगेट ऑडियंस नहीं है, तो आपको इस तरह के एंड नेटवर्क्स का कोई फायदा नहीं मिल पाएगा, क्योंकि ज्यादातर लोग इस तरह के ऐड्स में इंटरेस्टेड नहीं होंगे

दोस्तों यह हमने आपको इस आर्टिकल में CPC, CTR, CPA, RPM आदि search term के बारे में बताने की कोशिश ki  । फिर भी आपके मन में कुछ सवाल हो सकते है, तो आप कमेंट बॉक्स में हमारे से पूछे, हम आपके सभी सवालों का जवाब देने की पूरी पूरी कोशिश करेंगे, धन्यवाद ।


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *