2021 में Adsense CPC कैसे बढ़ाये How to Increase Adsense CPC in 2021

By | September 15, 2020
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2021 Me Adsense Earning Kaise Badhaye

यदि आपने कुछ समय पहले ही अपना एक blog शुरू किया है और आपको उस blog पर अच्छा खासा traffic मिल रहा है और CTR भी ठीक-ठाक है तथा आप को Clicks भी मिल रहे हैं । लेकिन हो सकता है इस सब के बावजूद आपको CPC अच्छा नहीं मिल रहा है, जिस कारण आपकी earning अच्छी नहीं हो रही है ।

यह समस्या केवल आपकी नहीं है बल्कि आप जैसे हजारों लाखों bloggers की है जिनकी Website या Blog पर traffic तो बहुत अच्छा आता है और clicks भी होती हैं लेकिन उसके बावजूद उन्हें CPC उतना अच्छा नहीं मिल पाता है जितना वह उम्मीद करते हैं । ज्यादातर bloggers को शुरुआत में 0.01 से लेकर 0.02 डॉलर तक का CPC ही मिलता है ।

वे सोचते हैं कि शायद यह CPC शुरुआत में थोड़ा कम होता होगा और बाद में धीरे-धीरे बढ़ जाएगा । लेकिन जब काफी लंबा समय बीतने के बाद भी CPC नहीं बढ़त है तो उन्हें चिंता होने लगती है और उनका मन भी blogging से हटने लगता है, क्योंकि वह जिस हिसाब से मेहनत करते हैं उस हिसाब से उन्हें result नहीं मिलते हैं ।

और यह ठीक भी है क्योंकि आप अपने ब्लॉग पर दिन रात मेहनत करते हैं और जब आप अपने Adsense Account को चेक करते हैं और CPC को देखते हैं तो वहां आपको CPC का Rate 0.01 से लेकर $0.02 मिलता है जो वास्तव में ही केवल आपके लिए ही नहीं बल्कि किसी भी blogger के लिए निराशाजनक हो सकता है ।

इसलिए आप जैसे bloggers की समस्या को ध्यान में रखते हुए हमने यह article लिखा है । इस article में हम Adsense की CPC कम क्यों होती है तथा Adsense CPC को कैसे बढ़ा सकते हैं इसके बारे में पूरी जानकारी देंगे । तो आइए शुरू करते हैं ।

CPC और Earning में संबंध

सबसे पहले तो यह जानना जरूरी है की Adsense CPC और आपकी Earning में क्या relation है । देखिए CPC का अर्थ होता है cost per click,  यानी आपकी Website या Blog का कोई visitor जब आपकी website या blog पर दिखाई देने वाले Ads पर क्लिक करता है, तो आपको उस Ads का कितना पैसा मिलता है, इसे CPC यानी cost per click कहा जाता है । इस हिसाब से CPC का सीधा संबंध आपकी कमाई से हैं, क्योंकि आपके blog पर जितना ज्यादा CPC आपको मिलेगा उतनी ज्यादा कमाई आपकी होगी ।

अब इसे हम एक उदाहरण से समझते हैं । मान लीजिए 1 दिन में आपके ब्लॉग पर 100 क्लिक होते हैं तथा आपको एक क्लिक का पैसा यानी CPC $1 मिलता है, तो इस हिसाब से आपकी कमाई होगी 100 * 1 = $100 । यानी आप 1 दिन में सिर्फ सो क्लिक मिलने पर ही$100 कमा लेंगे ।

अब मानते हैं कि आपको CPC का रेट 0.01 मिलता है तो इस स्थिति में आप की कमाई होगी 100 * 0.01 = $1 । तो आप देख सकते हैं की CPC का संबंध सीधा सीधा आपकी कमाई से हैं । जितना ज्यादा CPC उतनी ज्यादा कमाई । तो इसका मतलब यह है कि सारा खेल CPC का है । यदि आप के blog पर आपको High CPC मिलता है तो आपकी कमाई भी ज्यादा होगी । तो यह जानते हैं आपको High CPC कैसे मिल सकता है

2021 में AdSense CPC कैसे बढ़ाये

Adsense की  CPC को बढ़ाने के लिए आपको Adsense के बारे में details से जानना जरूरी है । ज्यादातर bloggers Adsense के बारे में गहराई से नहीं जानते हैं, यही कारण होता है कि उन्हें सब कुछ ठीक-ठाक होते हुए भी CPC कम मिलता है । तो आइए आज हम Adsense CPC से संबंधित सभी तथ्यों को विस्तार से जानेंगे ।

High paying CPC country का चुनाव करें

Google Adsense  का rate अलग-अलग countries में अलग अलग होता है । European countries जैसे United States, Canada, Australia आदि का CPC rate Asian Countries जैसे India, Pakistan, Nepal, Bangladesh आदि की तुलना में बहुत ज्यादा होता है ।

European Countries का CPC rate ज्यादातर $1 से $5 के बीच होता है । कुछ conditions में CPC $20 उससे भी ज्यादा जा सकता है । वहीं दूसरी ओर यदि हम Asian Countries की बात करें तो CPC ज्यादातर 0.01 से 0.02 के बीच ही रहती है । यदि आपकी niche अच्छी है और आपको blog थोड़ा पुराना हो चुका है तो आपको 0.1 से लेकर 0.5 तक का CPC भी मिल सकता है, तो आप समझ सकते हैं की कितना अंतर है ।

इसलिए यदि आप अपने blog की income बढ़ाना चाहते हैं तो High CPC Countries को ही target करें, क्योंकि इन countries में CPC का rate बहुत ज्यादा होता है । लेकिन ध्यान रखें, इन countires में अपने blog को rank कराना भी उतना ही मुश्किल है ।

लेकिन यदि आप passion के साथ काम करेंगे और लंबे समय तक टिक कर काम करेंगे तो निश्चित रूप से आप इन countires में भी अपने blog को rank करा सकते हैं । European Countries में अपने blog को रंग करने के लिए proper Keyword Research करनी बहुत जरूरी है ।

सही Keyword का चुनाव करें

अगला महत्वपूर्ण factor है keyword । Keyword आपके blog की income के लिए बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है । Keyword दो तरह के होते हैं

  1. Low CPC Keyword
  2. High CPC Keyword

कुछ Keywords ऐसे होते हैं जिनमें आपको CPC का rate बहुत कम मिलता है, जबकि कुछ Keywords पर आपको CPC बहुत ज्यादा मिलता है । नीचे हमने High CPC से संबंधित Keywords की list दी हैं ।

top 10 highest paid Adsense keywords for 2020 (by industry/niche):

  1. Insurance $59 CPC
  2. Gas/Electricity $57 CPC
  3. Loans $50 CPC
  4. Mortgage $44 CPC
  5. Attorney $48 CPC
  6. Lawyer $43 CPC
  7. Donate $42 CPC
  8. Conference Call $42 CPC
  9. Degree $40 CPC
  10. Credit $38 CPC

Source: https://alejandrorioja.com/high-cpc-adsense-keywords/

तो इस प्रकार आप देख सकते हैं की Insurance, online education, marketing and advertising, legal advertising, internet and telephone आदि कुछ ऐसी चीज है जिनका CPC बहुत ज्यादा होता है । तो यदि आप अपने blog में इन niches से related keywords को use करेंगे तो आपको निश्चित रूप से High CPC मिलेगा ।

लेकिन यहां हम आपको एक बात और बता दें, जिस तरह European Countries में blog को rank कराना मुश्किल होता है उसी तरह High CPC Keywords पर अपने article या blog को rank कराना भी मुश्किल होता है । क्योंकि आप जितनी ज्यादा CPC वाला Keyword चुनेंगे उस पर competition भी उतना ज्यादा ही होगा ।

इसलिए शुरुआत में आप ऐसे Keywords चुने जिनका CPC भले ही ज्यादा ना हो लेकिन उन पर competition भी ज्यादा नहीं होना चाहिए वरना आपकी मेहनत बेकार जाएगी । शुरुआत में आप उन Keywords को चुने जिन पर monthly traffic 1000 से 2000 के बीच है तथा Keyword Difficulty (KD) 10 से कम है ।

यदि आपके blog की domain authority ज्यादा अच्छी नहीं है तो भी शुरुआत में आपको Low Competition वाले Keywords को ही use करनी चाहिए । इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए आप हमारा article Keyword Reasearch जरूर पढ़ें ।

Manual Ads vs. Auto Ads 

इसके बाद तीसरा महत्वपूर्ण घटक है Ad Selection । Google Ads दो तरह के होते हैं

  1. Manual Ads
  2. Auto Ads

Manual Ads:  Manual Ads वे Ads होते हैं जिन्हें आप अपने Google Adsense Account से code को copy करके अपनी website में जहां आपको Ads दिखाना होता है उस स्थान पर लगाते हैं । इसके लिए आप अपने Google Adsense Account में एड Ad Unit create कर सकते हैं तथा code को copy करके अपनी website में लगा सकते हैं । जल्दी हम manual ads के बारे में article लिखेंगे तथा आपको पूरी जानकारी देंगे ।

Auto ads: Google Auto Ads में आपको अलग-अलग Ad Unit create करने की जरूरत नहीं होती है,बल्कि आपको Auto Ad का code copy करके अपनी website के header में लगाना होता है । Ad लगाने के बाद कुछ मिनटों में आपकी website पर Ad देखने शुरू हो जाते हैं । इन Ads को Google आपके site visitors के interest के हिसाब से बदलता रहता है ।

अब सबसे बड़ा प्रश्न यह उठता है की इन दोनों type के Ads में से कौन सा Ad type बढ़िया है जिससे आपको ज्यादा income हो सकती है । देखिए यदि आप इस topic को internet पर search करेंगे तो आपको अलग-अलग bloggers की अलग-अलग राय मिलेगी, क्योंकि सब का अनुभव भी अलग अलग होता है ।

जहां तक मेरे अनुभव की बात है तो मेरा personal experience यही है की Auto Ads में Manual Ads की तुलना में CPC बहुत ज्यादा मिलती है । मैं आपको यह तो नहीं बता सकता कि ऐसा क्यों होता है लेकिन हां इतना जरूर है कि मेरे case में मुझे Auto Ads में Manual Ads की तुलना में ज्यादा CPC मिला है ।

आप experiment कर सकते हैं, यदि आपको Manual Ads में ज्यादा CPC नहीं मिल रहा है तो आप Google Auto Ads के साथ जा सकते हैं । यदि आप Auto Ads से संतुष्ट नहीं भी होते हैं तो घबराने की क्या जरूरत है, आप जब चाहे Manual Ads पर वापस लौट सकते हैं । आप अपने blog पर Manual Ads के साथ-साथ Auto Ads लगाकर experiment भी कर सकते हैं ।

सही Blogging Plateform का चयन करें

अगला महत्वपूर्ण factor है blogging plateform । आज के समय में मुख्य रूप से दो ही blogging plateform है जो bloggers इस्तेमाल करते हैं ।

  1. blogspot.com
  2. wordpress.org

Blogspot.com Google  का ही एक product है या कह सकते हैं की blogging plateform है । यह बिल्कुल Free है । आप शुरुआत में blogspot.com पर अपना blogging career शुरू कर सकते हैं । लेकिन इसकी कुछ कमियां भी है ।

blogspot.com की सबसे बड़ी कमी यही है की blogspot.com पर बने हुए blogs की CPC हमेशा ही कम रहती है । दूसरी ओर यदि आप WordPress पर अपनी website शुरू करते हैं तो जहां एक और आप इसे मनचाहे तरीके से customize कर सकते हैं वहीं दूसरी ओर WordPress पर आपको CPC भी blogger की तुलना में ज्यादा मिलती है ।

WordPress का दूसरा सबसे बड़ा फायदा यह है कि WordPress में बने हुए blogs,  blogspot की तुलना में Google में बहुत जल्दी rank होते हैं । Blogspot पर आप जितनी चाहे मेहनत करें लेकिन आप WordPress को कभी भी beat नहीं कर सकते । इसलिए हम आपको सलाह देंगे कि आप WordPress का ही चयन करे ।इससे आपकी मेहनत को बहुत अच्छा रूप मिलेगा और आप blogging में निश्चित रूप से सफलता प्राप्त करेंगे ।

दोस्तों यह हमने आपको Google Adsense Earning से संबंधित मुख्य बातें बताई है । अब हम इस topic से related FAQs को भी जान लेते हैं

Google Adsense CPC से संबंधित प्रश्न

क्या Manual Ads Placement का AdSense CPC से कोई सम्बन्ध है?

हमारे बहुत से पाठकों ने हमसे पूछा है कि क्या Manual Ads Placement का Adsense CPC पर कोई फर्क पड़ता है या नहीं । तो देखिए हम आपको बता दें कि Ads Placement का Adsense CPC से कोई लेना देना नहीं है । क्योंकि आपको जो पैसा मिलता है वह depend करता है कि उस particular ad की CPC क्या थी ।

अगर CPC ज्यादा है तो आपको ज्यादा पैसे मिलेगा और CPC कम है तो आपको कम पैसा मिलेगा । आपकी website पर Ad किस जगह show हो रहा है इसका CPC से कोई लेना देना नहीं है । लेकिन हां यदि आप गलत जगह ऐड प्लीज करते हैं तो user experience खराब हो सकता है ।

हो सकता है आपने अपने article में जरूरत से ज्यादा ads लगा दिए हो जिससे आपके पाठक परेशान हो सकते हैं । इसलिए ध्यान रखें पूरे पेज पर तीन या चार Ad Unit का ही प्रयोग करें ।

मुझे अपने article में कितने Ad Unit लगानी चाहिए?

यह भी बहुत important question है कि आपको अपने blog post में कितनी Ad UNit लगानी चाहिए । हम आपको सुझाव देते हैं कि आप अपने article में तीन या चार Ads से ज्यादा Ad Unit का प्रयोग ना करें । क्योंकि ज्यादा Ad Unit का प्रयोग करने से केवल user experience ही खराब होगा ना कि आपको कोई अतिरिक्त लाभ होगा ।

यदि userर किसी ad में interested है तो वह ad को देखकर ही click कर देगा और यदि interested नहीं है तो उसे आप जितने चाहे ad दिखा दे वह click नहीं करेगा, बल्कि बार-बार ad देखकर irritate होगा ।

आप एक बात का और ध्यान रखें, कि आपके article में एक ही ad बार-बार repeat नहीं होना चाहिए,यह भी bad user experience में गिना जाता है । वैसे तो आप अपने blog post में जितने चाहे ad लगा सकते हैं, Google की तरफ से इसकी कोई पाबंदी नहीं है । लेकिन हम आपको सलाह देंगे कि आप तीन या चार ad से ज्यादा ना लगाएं ।

क्या मैं Adsense Earning बढ़ाने के लिए Low CPC Ads को डिलीट कर सकता हूं?

बहुत से लोग सोचते हैं कि यदि वे अपने blog से Low CPC Ads को block कर देंगे तो उनकी earning बढ़ जाएगी लेकिन यह केवल एक भ्रम है । वास्तव में ऐसा नहीं है, क्योंकि आपके blog पर High CPC Keywords आपके blog post मैं use किए गए के niche पर निर्भर करते हैं ।

ऐसा नहीं है कि यदि आप Low CPC वाले Ads को delete कर देंगे तो High CPC वाले Ads होने शुरू हो जाएंगे बल्कि इससे आपकी earning और भी कम हो सकती है । क्योंकि आपने उन ads को ब्लॉक कर दिया है जिससे आपकी थोड़ी बहुत earning हो रही थी इसलिए आप ऐसा ना करें । लेकिन यदि आप experiment करना चाहे तो कर सकते हैं लेकिन ध्यान रखें इससे आपकी earning खतरे में पड़ सकती है ।

Blog शुरू करने के लिए Hindi या English में से कौन सी Language best है तथा किस में ज्यादा Earning है?

यह एक ऐसा सवाल है जिसमें ज्यादातर वो blogger confuse रहते हैं, जो blogging को या तो शुरू करने वाले हैं या जिन्होंने Hindi Blog शुरू किया है और उनकी earning थोड़ी कम है । आप इन दोनों में से ही किसी ना किसी category में जरूर आते होंगे । हम दोनों के बारे में ही बताते हैं ।

यदि आप blog शुरू करने वाले हैं और आप consuse हैं कि आप कौन सी lanagegu को चयन करें तो सबसे पहले आप यह देखिए कि आप किस भाषा में expert है । क्या आप english में अच्छी तरीके से लिख सकते हैं,क्योंकि blogging का अर्थ है अपने दिल की बातों को शब्दों में उतारना ।

अगर आप english लिखते हुए बार-बार सोचते हैं, words ढूंढते हैं, grammer के बारे में सोचते हैं spelling mistakes के बारे में सोचते हैं तो कभी भी आप english blogging में सफल नहीं हो सकते हैं , क्योंकि english में जो भी आप लिखेंगे उसमें imotional touch नहीं होगा और जो आपके readers हैं उन्हें भी पढ़ने में मजा नहीं आएगा, क्योंकि आपके दिल की बात उन तक नहीं पहुंच पाएगी ।

दूसरी ओर अगर Hindi आपकी पसंदीदा भाषा है तो जाहिर सी बात है आप जो भी सोचते हैं, जो भी आपके मन में है उसे आप वैसे की वैसे ही लिख सकते हैं । आप अपने दिल की बात अपने दर्शकों तक एकदम पहुंचा सकते हैं । इसलिए आज से आपको हिंदी भाषा का चयन करना चाहिए ।

अब एक बहुत important question उठता है की हिंदी और इंग्लिश में किस langugea में ज्यादा CPC मिलती है तथा किस में ज्यादा कमाई है । तो इस question का सीधा सा उत्तर है English । जी हां दोस्तों English में Hindi की तुलना में ज्यादा सी खुशी मिलती है तथा कमाई भी ज्यादा होती है । लेकिन ऐसा नहीं है की हिंदी में आप नहीं कमा सकते हैं । आप हिंदी में भी कमा सकते हैं । इंग्लिश में आप पूरी दुनिया को target करते हैं । इसमें European, African जैसे महाद्वीप भी target होते हैं जहां CPC से बहुत ज्यादा होती है ।

लेकिन ध्यान रखें English Blogging में Hindi Blogging की तुलना में competiton भी बहुत खतरनाक होता है । आप English Blogging में जल्दी से survive नहीं कर पाएंगे । आपको बहुत लंबा समय और मेहनत करनी होगी, तब कहीं जाकर आपका blog English में rank होगा ।

जबकि दूसरी ओर Hindi में आपका blog आसानी से ही rank हो जाएगा तथा 6 महीने में ही आपकी earning शुरू हो जाएगी ।

Conclusion: Hindi Blogging में भले ही income कम हो लेकिन इसमें आपको सफलता English Blogging की तुलना में जल्दी मिल जाएगी जिससे आपका उत्साह लंबे समय तक या हमेशा ही बना रहेगा । इसलिए हमारी सलाह है कि आप Hindi Blogging से शुरुआत करें । आप 1 blog English में भी शुरू कर सकते हैं और weak में एक या दो article English में डाल सकते हैं, लेकिन अपना main focus Hindi blog पर ही रखें

यदि आपका blogging से related कोई भी question हो तो आप comment में हमारे सब पूछ सकते हैं । हम आपके सभी प्रश्नों का जवाब देने की पूरी कोशिश करें ।

 


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *